jira ka bhav aaj ka

Jira Ka Bhav Aaj Ka

જીરૂ ના ભાવ નું લિસ્ટ

19/09/2020

રાજકોટ2100-2462
ગોંડલ2001-2461
જેતપૂર1700-2426
બોટાદ1021-2396
વાંકાનેર2030-2411
અમરેલી2300-2405
જસદણ1500-2450
કાલાવડ1875-2340
જામજોધપૂર2225-2380
જામનગર1700-2330
મહુવા1922-1923
જુનાગઢ1870-2323
સા.કુંડલા1400-2360
મોરબી2250-2352
હળવદ2000-2320
હારીજ2250-2600
પાટણ1901-2265
ધાનેરા2150-2351
મહેસાણા1540-1541
ઉપલેટા2200-2230
પોરબંદર1900-2200
થરા2221-2570
રાધનપુર2050-2620
દીયોદર2135-2540
ભેંસાણ2000-2428
બેચરાજી2100-2500
સાણંદ2055-2220
કપડવંજ2100-2500
થરાદ2050-2600
દશાડાપાટડી2280-2476
વીરમગામ2140-2437
ધ્રોલ1500-2305

Jira Ka Bhav Aaj Ka मेरे प्यारे किसान भाइयो आपका स्वागत हे MyGujarat1 ब्लॉग मे, इस पोस्ट के माध्यम से आपको Unjha mandi bhav – उंझा मंडी भाव, Unjha APMC Rate की जानकारी प्रतिदिन उपलब्ध होंगी।

Jira Ka Bhav Aaj Ka मेरे प्यारे किसान भाइयो आपका स्वागत हे MyGujarat1 ब्लॉग मे, इस पोस्ट के माध्यम से आपको Unjha mandi bhav – उंझा मंडी भाव, Unjha APMC Rate की जानकारी प्रतिदिन उपलब्ध होंगी।

जीरा एक सुगंधित मसाला है जो कि गाजर और अजमोद के परिवार से संबंध रखता है। विदेशी व्‍यंजनों में खासतौर पर जीरा डाला जाता है। पूर्वी यूरोप और एशिया के खास व्‍यंजनों में जीरे का इस्‍तेमाल जरूर किया जाता है। भारत में जीरे के चावल भी खूब पसंद किए जाते हैं और यहां पर हर घर की रसोई में जीरा जरूर मिलता है। चरपरे स्‍वाद की वजह से मोरक्‍को के स्‍थानीय व्‍यंजनों में जीरे का बहुत इस्‍तेमाल किया जाता है।

jira ka bhav aaj ka

इरान में मिली व्‍यंजन पकाने की कुछ प्राचीन किताबों में भी जीरे का उल्‍लेख किया गया है। हालांकि, जीरे का इस्‍तेमाल सिर्फ खाना पकाने के लिए ही नहीं किया जाता है। स्‍वास्‍थ्‍यवर्द्धक एवं औषधीय गुणों के कारण पारंपरिक और आयुर्वेदिक औषधियों में जीरे का महत्‍वपूर्ण स्‍थान है।

लंबे समय से विभिन्न संस्कृतियों के लोग गैलेक्टागोग (स्‍तनपान करवाने वाली महिलाओं में दूध के स्राव में सुधार लाने) और रोगाणुरोधी के रूप में जीरे उपयोग करते आए हैं। कुछ इतिहासकारों के अनुसार प्राचीन मिस्‍त्र में जीरे को महत्‍वपूर्ण औषधीय मसाले के रूप में जाना जाता था।

जीरे के आयुर्वेदिक उपयोग की पुष्टि के लिए अब कई शोध किए जा रहे हैं। यहां तक कि जीरे के बीजों को मोटापे और डायबिटीज के लक्षणों को कम करने में चिकित्‍सकीय रूप से प्रभावी पाया गया है। ऐसे में जीरा न केवल खाने के स्‍वाद को बढ़ाता है बल्कि सेहत को भी लाभ पहुंचाता है।

क्‍या आप जानते हैं?

जीरे का पौधा एक वार्षिक जड़ी बूटी है जो 1 से 1.5 फीट की ऊंचाई तक बढ़ सकता है। जीरे का मुलायम तना शाखों से बहुत ज्‍यादा जुड़ा हुआ होता है। इसकी लंबी पत्तियां और सफेद या लाल रंग के छोटे फूल होते हैं जो कि जीरे की शाखाओं पर झुंड में खिलते हैं। जीरे के बीज आकार में लंबे लेकिन अंडाकार होते हैं और उनकी सतह पर लकीरें होती हैं।

जीरे के बारे में कुछ तथ्‍य

  • वानस्‍पतिक नाम: क्‍यूमिनम सायमिनम
  • कुल: एपिएसी
  • सामान्‍य नाम: क्‍यूमिन, जीरा
  • संस्‍कृत नाम: जीरक
  • उपयोगी भाग: फल
  • भौगोलिक विवरण: जीरा मूल रूप से मिस्‍त्र से है लेकिन इसे चीन, मोरक्‍को और भारत में भी उगाया जाता है।
  • गुण: गर्म

jira ka bhav aaj ka