Agriculture NEWS

Agriculture NEWS

દવાના છંટકાવ દરમ્યાન રાખવાની કાળજીઓ

01.indd


(1)ભલામણ મુજબની દવાઓ અને સપ્રમાણ દવાઓનો છંટકાવ કરવો..

(2)છંટકાવ કર્યા બાદ પંપને સારી રીતે સાફ કરવો..

(3)કોઇને ઉછીનો પંપ આપવો નહિ કે લેવો નહિ…

4)વધી ધટી દવાને જે તે ડબલામાં જ રહેવા દેવી અન્ય ડબલામાં ફેરવવી નહિ, કે અન્ય દવા સાથે ભેળવવી નહિ..

(5)દવાના છંટકાવ સમયે ચહેરા પર માસ્ક પહેરવા..

(6) છંટકાવ દરમ્યાન પહેરેલા કપડાને સીધા જ ધોઇ નાખવા.

(7) દવાના છંટકાવ બાદ સારી રીતે સ્નાન કરવુ..

તાડપત્રી ખરીદો અને બે વસ્તુ ફ્રી

અહીં ક્લિક કરો

(8) દવાના છંટકાવ દરમ્યાન તમાકુ ,બીડી,કે ફાકી ખાવી નહિ..

(9)દવાના છંટકાવ દરમ્યાન કે છંટકાવ બાદ છ કલાક સુધી ચીભડા કાકડી અને દુધ જેવા ખોરાક ન લેવા..

(10)છંટકાવ પુર્ણ થયા બાદ તરત જ ઉંઘવુ નહિ,બે ત્રણ કલાક જાગતા રહેવુ..

(11)છંટકાવ માં વપરાયેલ વાસણો ખાવામાં કે રસોઇ બનાવવામાં ઉપયોગ ન લેવો..

(12)દવાના છંટકાવથી પશુધન કે નિરણ દુર રાખવા..

(13)દવાના સંગ્રહ સ્થાન સુરક્ષિત રાખવી…

(14) પવનની સામેની ગતિમાં દવાનો છંટકાવ ન કરવો જોઈએ.

(15) દવાના છંટકાવ બાદ ખાલી બોટલોને સાફ કરી તેમાં કાણા પાડી ને યોગ્ય નિકાલ કરવા માટે બોટલ પર પીળો રંગ કરીને ગ્રીસ અથવા એરંડિયું તેલ લગાડીને yello streki stre બનાવી શકાય.

Precautions to be taken during spraying: –

(1) Spraying of recommended drugs and symmetrical drugs.
(2) Thoroughly clean the pump after spraying.
(3) Don’t lend or take a pump to anyone …
(4) Do not turn the over-the-counter drug into another container or mix it with another drug.
(5) Wearing a face mask while spraying.
(6) To wash clothes worn during spraying directly.
(7) Bathe well after spraying.
(8) Do not eat tobacco, BD, or Faki during spraying.
(9) Do not take food like cucumber and milk during or after spraying for six hours.
(10) Do not sleep immediately after spraying, stay awake for two to three hours.
(11) Do not eat utensils used in sprinkling or cooking.
(12) To keep livestock away from spraying.
(13) Protecting drug storage …
(14) The drug should not be sprayed in front of the wind.
(15) Yello streki stre can be made by spraying the medicine, cleaning the empty bottles, drilling holes in them and applying grease or castor oil on the bottles for proper disposal.

हैं कि सही बाजार सूचना के अभाव में नुकसान उठाना पड़ता है। इस मोबाइल ऐप से किसान बाजार भावों के बारे में सूचना एकत्र कर अपना निर्णय ले सकते हैं और यह समझ सकते हैं कि बिक्री के लिए उन्हें आस-पास की किस मंडी में अपने उत्पाद ले जाना चाहिए। यह एप किसानों को आस-पास के फसल मूल्यों से अवगत कराने के उद्देश्य से विकसित किया गया है।

यदि कोई व्यक्ति जीपीएस लोकेशन का उपयोग करना नहीं चाहता तो उसके लिए भी किसी अन्य बाजार या फसल का मूल्य प्राप्त करने का विकल्प है। मूल्य एगमार्क नेट पोर्टल से लिए जाते हैं।

यदि कोई व्यक्ति जीपीएस लोकेशन का उपयोग करना नहीं चाहता तो उसके लिए भी किसी अन्य बाजार या फसल का मूल्य प्राप्त करने का विकल्प है। मूल्य एगमार्क नेट पोर्टल से लिए जाते हैं।

किसान रथ मोबाइल एप Kisan Rath

केंद्र सरकार ने कोरोना लॉकडाउन के दौरान किसानों की सहायता के लिए किसान रथ मोबाइल एप लांच किया था। किसान रथ एप किसानों की फसल को मंडी तक पहुंचाने में मदद करता है।

यह एप 8 भाषाओं में उपलब्ध है। किसान रथ ऐप किसानों की सभी समस्याओं को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। यहां फल-सब्जियों और अनाज को मंडी ले जाने के लिए ट्रांसपोर्ट से लेकर मंडी में सही दाम पर बिक्री तक की सुविधा उपलब्ध है।

इफको किसान एप IFFCO Farmers App

इफको किसान एप किसानों के बीच खासा लोकप्रिय है। यह एक एंड्राइड एप है जो करीब 10 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है। इस एप पर मौसम पूर्वानुमान, कृषि बाजार की जानकारी, कृषि व पशुपालन पर सलाह, सरकारी योजना, कृषि समाचार व कृषि वस्तुओं के क्रेता और विक्रेताओं के लिए इलेक्ट्रॉनिक बाजार की सुविधा है। इस एप पर कृषि विशेषज्ञों से फसलों के दाम, मौसम की जानकारी, मिट्टी की जांच और खेती से जुड़ी कोई भी सलाह ले सकते हैं।

एग्री बाजार मोबाइल एप Agri Bazar App

यह एप एक इलेक्ट्रॉनिक मंडी है। यहां पर किसान सीधे बड़ी कंपनियों, मीलों व बड़े व्यापारियों को माल बेच सकते हैं। यह प्लेटफार्म पारदर्शिता और प्रत्यक्ष क्रेता-विक्रेता बातचीत की सुविधा देता है, और यह सुनिश्चित किया जाता है कि छोटे किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य मिल सके। गृह मंत्रालय (एमएचए) की सुरक्षा और एसओपी के दिशानिर्देशों के अनुसार, एग्रीबाज़ार की ऑन ग्राउंड सेवाएं किसान से उपज लेने और इसे खरीदार के गंतव्य तक पहुंचने का इंतज़ाम करती है।

क्रॉप इंश्योरेंस एप Crop Insurance App

क्रॉप इंश्योरेंस मोबाइल एप से किसानों को न केवल उनके क्षेत्र में उपलब्ध बीमा कवर के बारे में पूरी जानकारी मिलती है बल्कि ऋ ण लेने वाले किसानों को फसल के लिए इंश्योरेंस प्रीमियम, कवरेज राशि तथा ऋ ण राशि की गणना में भी मदद मिलती है। इसका इस्तेमाल सामान्य बीमा राशि, विस्तारित बीमा राशि, प्रीमियम ब्यौरा तथा अधिसूचित क्षेत्र में किसी अधिसूचित फसल की सब्सिडी सूचना के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है। यह मोबाइल एप कृषि सहकारिता तथा किसान कल्याण विभाग के आईटी प्रभाग द्वारा विकसित किया गया है।

एग्री एप Agri App

यह ऑल इन वन कृषि केंद्रित एप पूरी तरह से मुफ्त है। यह एक ऐसा एग्री ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जहां किसानों को खेतीबाड़ी से लेकर सरकारी योजनाओं तक की पूरी जानकारी मिलती है। इस एप की खास बात यह है कि यहां कृषि विशेषज्ञों को मैसेज भेजकर उनकी सलाह ली जा सकती है। इस एप पर खेती से जुड़े कई वीडियो उपलब्ध है जिनसे किसानों खेती की नवीनतम तकनीकों की जानकारी मिलती है।

किसान योजना एप Kisan Yojana App

किसान योजना एप पर सरकारी योजनाओं की जानकारी मिलती है। इस एप पर अलग-अलग राज्यों की योजनाओं के बारे में बताया जाता है। इस एप की मदद से किसान सरकारी योजनाओं की जानकारी घर बैठे ले सकता है और उसे इधर-उधर भागने की आवश्यकता नहीं है। 

एग्री मीडिया वीडियो एप में मिलेगा कीट / रोग का समाधान

Agri Media Video App

अगर फसल में किसी कीट या रोग का प्रकोप हो गया है तो किसान को अब घर बैठे ही कीट व रोग के उपचार की संपूर्ण जानकारी मिल सकेगी। इसके लिए किसानों के बीच एग्री मीडिया वीडियो एप काफी लोकप्रिय है। इस एप में किसान फसल में लगे कीट व रोग की फोटो डालकर समाधान प्राप्त कर सकते हंै। कृषि विशेषज्ञ किसानों को उचित समाधान बताते हैं। यह एक वीडियो एप है जिस पर किसान दूसरी फसल के वीडियो भी देख सकते हैं। इसके अलावा खेती की नई तकनीक की जानकारी भी ले सकते हैं।